Tuesday , 14 April 2020
Beautiful inspirational messages great meaning by Pablo Neruda
Home » Tag Archives: Inspirational Story (page 4)

Tag Archives: Inspirational Story

Weakness or Strength – Inspirational Story

Sometimes our biggest weakness can become our biggest strength. Take, for example, the story of one 10-year-old boy who decided to study Judo despite the fact that he had lost his left arm in a devastating car accident. The boy began lessons with an old Japanese Judo master. The boy was doing well, so he couldn’t understand why, after three …

Read More »

Heart Touching Story with a Moral – Motivational Stories

A doctor entered the hospital in hurry after being called in for an urgent surgery. He answered the call asap, changed his clothes & went directly to the surgery block. He found the boy’s father pacing in the hall waiting for the doctor. On seeing him, the dad yelled: “Why did you take all this time to come? Don’t you know …

Read More »

Inspirational Stories in Hindi – एक छिपकली की हमदर्दी

एक जापानी अपने मकान की मरम्मत केलिए उसकी दीवार को खोल रहा था। ज्यादातर जापानी घरों में लकड़ी की दीवारो के बीच जगह होती है। जब वह लकड़ी की इस दीवार को उधेड़ रहा तो उसने देखा कि वहां दीवार में एक छिपकली फंसी हुई थी। छिपकली के एक पैरमें कील ठुकी हुई थी। उसने यह देखा और उसे छिपकली …

Read More »

यह जिस्म तो किराये का घर है… Motivational Poetry, Good Poems, Messages in Hindi

यह जिस्म तो किराये का घर है… एक दिन खाली करना पड़ेगा…|| सांसे हो जाएँगी जब हमारी पूरी यहाँ … रूह को तन से अलविदा कहना पड़ेगा…।। वक्त नही है तो बच जायेगा गोली से भी समय आने पर ठोकर से मरना पड़ेगा…|| मौत कोई रिश्वत लेती नही कभी… सारी दौलत को छोंड़ के जाना पड़ेगा…|| ना डर यूँ धूल …

Read More »

कहानी – Hindi Stories, Interesting Stories in Hindi, Good Story,Kahani

आज आज मैंने हार मानना चाही मैंने अपना job छोड़ दिया मेरे रिश्ते छोड़ दिए मेरी आध्यात्मिकता छोड़ दी मैं अपनी जिंदगी खत्म करना चाहता था मैं ईश्वर से आखिरी मुलाकात करने एक जंगल में गया, एक आख़िरी बात करने. “भगवान्”, मैंने कहा “क्या आप मुझे एक ऐसी वजह दे सकते है की मैं आखिर हार क्यों न मानू?”

Read More »